श्री कृष्णा आरती – अधर धर मुरली बजैया की आरती कृष्ण कन्हैया की

अधर धर मुरली बजैया आरती लिरिक्स हिंदी

अधर धर मुरली बजैया की आरती कृष्ण कन्हैया की
कृष्णा तुम मथुरा में जन्म लियो नंद घर मंगलाचार कियो
यशोदा गोद ख़िलैया की आरती कृष्ण कन्हैया की
अधर धर मुरली बजैया की आरती कृष्ण कन्हैया की

कृष्ण तुम यशोदा के छैया श्याम बलदाऊ के भैया
बन बन धेनु चरैया की आरती कृष्ण कन्हैया की
अधर धर मुरली

श्याम तुम कंस असुर मारयो श्याम ने भूमि भार टारो
कालिया नाग नथिया की आरती कृष्ण कन्हैया की
अधर धर मुरली

कृष्ण अर्जुन के प्यारे श्याम भक्तों के रखवारे
यमुना तट रास रचैया की आरती कृष्ण कन्हैया की
अधर धर मुरली

आरती गावे कृष्णानंद मन में होता अति आनंद
विनय है लाज रखैया की आरती कृष्ण कन्हैया की
अधर धर मुरली

Adhardhar Murli Bajaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Krishna Tum Mathura Janam Liyo
Nand Ghar Mangala Chaar Kiyo

Yashoda God Khilaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Adhardhar Murli Bajaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Krishna Tum Yashoda Ke Chhaiya
Shyam Baldau Ke Bhaiya

Van Van Dhenu Charaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Adhardhar Murli Bajaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Krishna Tum Kansasur Maryo
Shyam Tum Bhoomi Bhar Taryo

Kaliya Naag Nathaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Adhardhar Murli Bajaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Krishna Tum Arjun Ke Pyare
Shyam Ho Bhaktan Rakhware

Jamuna Tat Ras Rachaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Adhardhar Murli Bajaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Aarti Gaate Amitanand
Man Mein Hota Ati Aanand

Vinay Hey Laaj Rakhaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

Adhardhar Murli Bajaiya Ki
Aarti Krishna Kanhaiya Ki

This Post Has One Comment

Leave a Reply