रामजी की जय बोलो

रामजी की जय बोलो माँ जानकी की जय बोलो
श्री रामजी की जय बोलो माँ जानकी की जय बोलो

होते है साधु संत तो भगवान की ही रूप
पूजो इन्हे रिझाऊ इन्हे देके दीप धूप
चाहे जिधर ये चले जाए देश को
करते है भारतीय नमस्कार भेष को
राम राम राम भज मन राम राम राम

राम सिया की जोगन बनके
पन्ने उलटू मैंने हर मनके
कुछ लोगो की आदत बुरी
मुँह में राम बगल में छुरी
पद के मद में भूल गए है
दुश कर्मो के दुश परिणाम
राम राम इनको राम राम राम

माला फेरत युग गया गया न मन का फेर
करके मनका दार के मनका मनका फेर
राम राम राम राम भजमन राम राम राम राम


रामजी की जय बोलो माँ जानकी की जय बोलो
श्री रामजी की जय बोलो माँ जानकी की जय बोलो

राम सिया ने दुर्दिन काटे
दुःख भक्तो के तभी तो बाते
दुनिया चाहे जैसा कहे
राम भक्त तो सब कुछ सही
हर चिंता दुःख का निवारण
राम बाण सम राम का नाम
राम राम राम भज मन राम राम राम

राम नाम की लूट है लूटी जाए सो लूट
अंतकाल पछ तायेगा जब कुर्सी जाएगी छूट
राम न देखे सज्जन दुर्जन
जो सुमिरे करे उनके काम

रामजी की जय बोलो माँ जानकी की जय बोलो
श्री रामजी की जय बोलो माँ जानकी की जय बोलो

Leave a Reply