मेरे राम के जैसा कोई नही

कैसे करू बखान
मेरी वाणी में इतना ज़ोर नही
मैने देख लिया जाग सारा मगर
मेरे राम के जैसा कोई नही

आँखे करुणा की सागर है
मुख जिनका चंद्रा दिवाकर है

हाथो में तीर कमान लिए
हनुमान भरत से चाकर है

लीला अप्रम पार और शक्ति
का कोई छोर नही

मैने देख लिया जाग सारा मगर
मेरे राम के जैसा और नही

दीनो के पालन हारे है
हीनो तरण हारे है

केवट के मुसाफिर बनते है
दुनिया के खेवन हारे है

उंगली पे नाचते दुनिया को
और दिखती कोई डोर नही

मैने देख लिया जाग सारा
मगर मेरे राम के जैसा और नही

श्री राम की महिमा गाएँगे
भक्ति का दीप जलाएँगे

कानो में अमृत रस घोले
हम ऐसी कथा सुनाएँगे

श्री राम के है ये विमल समझो
तुम समझो इन्हे कभी कमजोर नही

मैने देख लिया जाग सारा
मगर मेरे राम के जैसा और नही

कैसे करू बखान
मेरी वाणी में इतना ज़ोर नही
मैने देख लिया जाग सारा मगर
मेरे राम के जैसा कोई नही

Kaise Karu Bakhan
Meri Vaani Mein Itna Jor Nahi
Maine Dekh Liya Jag Sara Magar
Mere Ram Ke Jaisa Koi Nahi

Aankhe Karuna Ki Sagar Hai
Mukh Jinka Chandra Diwakar Hai

Hatho Mein Teer Kaman Liye
Hanuman Bharat Se Chakar Hai

Leela Apram Paar Aur Shakti
Ka Koi Chhor Nahi

Maine Dekh Liya Jag Sara Magar
Mere Ram Ke Jaisa Aur Nahi

Deeno Ke Palan Haare Hai
Heeno Taran Haare Hai

Kewat Ke Musafari Bante Hai
Duniya Ke Khewan Haare Hai

Ungali Pe Nachate Duniya Ko
Aur Dikhti Koi Dor Nahi

Maine Dekh Liya Jag Sara
Magar Mere Ram Ke Jaisa Aur Nahi

Shri Ram Ki Mahima Gayenge
Bhakti Ka Deep Jalayenge

Kaano Mein Amrat Ras Ghole
Hum Aisi Katha Sunayenge

Shri Ram Ke Hai Ye Vimal Samjho
Tum Samjho Inhe Kabhi Kamjor Nahi

Maine Dekh Liya Jag Sara
Magar Mere Ram Ke Jaisa Aur Nahi

Kaise Karu Bakhan
Meri Vaani Mein Itna Jor Nahi
Maine Dekh Liya Jag Sara Magar
Mere Ram Ke Jaisa Koi Nahi

Leave a Reply