मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग

कोई नहीं रोक पायेगा,
इस भगवा रंग की आंधी को,
इस दिल में श्री राम बसें है,
चीयर को देखो छाती को,

इस रंग को रंग को रंग के,
रण में कूद पड़े बलिदानी,
ये जाने दुनिया सारी।।

श्री राम को ये रंग भावे,
ये जाने दुनिया सारी,
श्री राम की खातिर,
रंग दू अपना तन मन,
भगवा रंग रंग ओ भगवा रंग रंग,
मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग,
मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग।।

योगी जी की जान इसी में,
मोदी जी की शान इसी में
बजरंगी की मान इसी में,
भारत का सम्मान इसी में
श्री राम के नारो से
हिल जाए धरती गगन,
भगवा रंग रंग ओ भगवा रंग रंग,
मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग,
मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग।।

भगवा मेरी शान है भगवा मेरी जान,
रोम रोम में बसें है मेरे जय श्री राम,

मंदिर पूरा बन जायेगा
राम राज्य फिर से आएगा
हर कोई हनुमान बनेगा,
भगवा परचम लहराएगा,
नहीं रहेगा कही अँधेरा,
नहीं रहेगा कही अँधेरा,
पूरा देश होगा जग मग,
भगवा रंग रंग ओ भगवा रंग रंग,
मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग,
मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग।।

भगवा करदेंगे दुनिया को,
अब हमने ये ठाना है,
सत्य सनातन विश्वगुरु,
भारत को बनाना है,
दसो दिशाओ में,
गूंजेगा राम नाम हरदम।।

भगवा रंग रंग ओ भगवा रंग रंग,
मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग,
मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग।।

Leave a Reply