मन में बसे है दो ही नाम सीताराम सीताराम

मन में बसे है
दो ही नाम सीताराम सीताराम

पूछो मेरे तन मन से
बँधे हो प्रीत के बंधन से

प्राण हो तेरी दृष्टि में
भूल नही हो अँखियाँ से

देव पुरुष में तेरा नाम
सीताराम सीताराम

मन में बसे है दो ही नाम
सीताराम सीताराम

झूठे तन को जोड़ दिया
टूटे मन को जोड़ दिया

इतनी ताक़त जाग छोड़ दिया
सबसे नाता तोड़ दिया
मुझको है बस तुमसे काम
सीताराम सीताराम सीताराम सीताराम

मन में बसे है दो ही नाम
सीताराम सीताराम

हो सकता है कोई ऐसा
कौन है दूजा तेरे जैसा

मैं जानू की तू है कैसे
जैसा गुण है रूप है वैसा

तुझको सुमीरू आठो याम
सीताराम सीताराम सीताराम सीताराम

मन में बसे है दो ही नाम
सीताराम सीताराम

Man Mein Base Hai
Do Hi Naam Sitaram Sitaram

Poochho Mere Tan Man Se
Bandhe Ho Preet Ke Bandhan Se

Praan Ho Teri Drishti Mein
Bhool Nahi Ho Ankhiyan Se

Dev Purush Mein Tera Naam
Sitaram Sitaram

Man Mein Base Hai
Do Hi Naam Sitaram Sitaram

Jhoothe Tan Ko Jod Diya
Toote Man Ko Jod Diya

Itni Takat Jag Chhod Diya
Sabse Nata Tod Diya
Mujhko Hai Bus Tumse Kaam
Sitaram Sitaram Sitaram Sitaram

Man Mein Base Hai
Do Hi Naam Sitaram Sitaram

Ho Sakta Hai Koi Aesa
Kaun Hai Dooja Tere Jaisa

Main Jaanu Ki Tu Hai Kaise
Jaisa Gun Hai Roop Hai Vaisa

Tujhko Sumiru Aatho Yaam
Sitaram Sitaram Sitaram Sitaram

Man Mein Base Hai
Do Hi Naam Sitaram Sitaram

Leave a Reply