दुर्गा जी की आरती -जगमग जगमग ज्योत जाली है

जगमग जगमग ज्योत जाली है
आरती करू मैं देवी मैया की

जगमग जगमग ज्योत जाली है
आरती करू मैं देवी मैय्या की

आरती करू मैं देवी मैय्या की
मैं आरती करू दुर्गा मैय्या की

ज्योतावली मैया की
ओ पहाड़ावाली मैया की
जगमग जगमग ज्योत जाली है

कंचन ढाल में दीप जलाओ
घी धेनु गैया की

चवर डोलाउ भोग
सेवा करू भोली मैया की

जगमग जगमग ज्योत जागी है
आरती करू मैं दुर्गा मैया की

शेर सवारी हाथ कटारी
खप्पर धरी मैया की

चंद मुंड नासिनी माहिख घटिनी
भक्त हिकारी मैया की

जगमग जगमग ज्योत जागी है
आरती करू देवी मैया की

बाजत ढोल मृदंग द्वारे
शेरोवली मैया की

नाव दुर्गा की आरती गाऊ
ध्यान धरू देवी मैया की

जगमग जगमग ज्योत जाली है
आरती करू देवी मैया की

Durgaji Ki Aarti Lyrics In English – Jagmag Jagmag Jyot Jali Hai

Jagmag Jagmag Jyot Jali Hai
Aarti Karu Main Devi Maiya Ki

Jagmag Jagmag Jyot Jali Hai
Aarti Karu Main Devi Maiyya Ki

Aarti Karu Main Devi Maiyya Ki
Main Aarti Karu Durga Maiyya Ki

Jyotawali Maiya Ki
O Pahadawali Maiya Ki
Jagmag Jagmag Jyot Jali Hai

Kanchan Dhaal Mein Deep Jalau
Ghee Dhenu Gaiya Ki

Chavar Dulau Bhog
Seva Karu Bholi Maiya Ki

Jagmag Jagmag Jyot Jagi Hai
Aarti Karu Main Durga Maiya Ki

Sher Sawari Hath Kataari
Khappar Dhari Maiya Ki

Chand Mund Naashini
Mahikh Ghatini
Bhakt Hikaari Maiya Ki

Jagmag Jagmag Jyot Jagi Hai
Aarti Karu Devi Maiya Ki

Baajat Dhol Mridang Dware
Sherowali Maiya Ki

Nav Durga Ki Aarti Gau
Dhyan Dharu Devi Maiya Ki

Jagmag Jagmag Jyot Jali Hai
Aarti Karu Devi Maiya Ki

This Post Has One Comment

Leave a Reply