जिसकी नैया राम भरोसे डूब नहीं सकती है

जिसकी नैया राम भरोसे
जिसकी नैया राम भरोसें
डोल भले सकती है
डूब नहीं सकती है।।

मत घबराना तू संकट आएँगे
मत घबराना तू संकट आएँगे
संकट भी एक दिन जाल बिछाएंगे
तू है प्रेमी राम लाला का
तुझपे असर ना होगा
बाल ना बांका तेरा होगा
देर भले हो जाए गाडी
छूट नहीं सकती है
ओ नैया डूब नहीं सकती है
जिसकी नैया राम भरोसें
डोल भले सकती है
डूब नहीं सकती है।।

सुनहु भारत भावी प्रबल
बिलख कहु मुनि नाथ
हानि लाभ जीवन मरण
यश अप यश विधि हाथ।।

कह हनुमंत विप्पति पभु सोई
जब तब सुमिरन भजन ना होई
जेहि विधि होये नाथ हित मोरा
करहु सोवियोगी दास तेरो ।।

कैलाश देवेंद्र साथ रहेंगे
गुरु बृजमोहन से देर ना हो सकती है
देर नहीं हो सकती है देर नहीं हो सकती है
डूब नहीं सकती है डूब नहीं सकती है।।

जिसकी नैया राम भरोसे
जिसकी नैया राम भरोसें
डोल भले सकती है
डूब नहीं सकती है।।

Leave a Reply