आओ सखियों मिल गाओ बधाई

आओ सखियों मिल गाओ बधाई
राम की बारात जनक पुर में आयी
देखो दूल्हा बने है राम रघुराई
आओ सखियों मिल गाओ बधाई।।

राजा दशरथ सज गए
और सज गयी साड़ी बारात देखो
आये सभी देवी देवता सब गुरु वशिष्ठ के साथ
दूल्हा बने राम संग तीनो भाई
आओ सखियों मिल गाओ बधाई।।

हो ऐसी जोड़ी और न जग में
जैसे सीता राम की
देखो जैसे सीता राम की
मंगल गान हो रहे चहु दिस
जय हो सीता राम की
दोनों कुलो ने देखो रीत निभाई
आओ सखियों मिल गाओ बधाई।।

माँ सीता संग बानी है दुल्हन
तीनो बहने आज देखो तीनो बहने आज
राम लाख और भारत शत्रुघन
बैठे मंडप साथ देखो बैठे मंडप साथ
सातो वचन लिए रस्मे निभाई
आओ सखियों मिल गाओ बधाई।।

आओ सखियों मिल गाओ बधाई
राम की बारात जनक पुर में आयी
देखो दूल्हा बने है राम रघुराई
आओ सखियों मिल गाओ बधाई।।

Leave a Reply